नौतनवां विधायक के नाम से एडीजीसी को मिली धमकी, मोबाइल नंबर की छानबीन कर रही पुलिस

0
317

गोरखपुर। सहायक जिला शासकीय अधिवक्‍ता (एडीजीसी) फौजदारी रमेश चंद्र पांडेय को नौतनवां के विधायक अमनमणि त्रिपाठी के नाम से जानमाल की धमकी दी गई है। एडीजीसी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज करके कैंट पुलिस जांच में जुटी है। मोबाइल नंबर विधायक का है या नहीं, इस बात जांच जारी है। एडीजीसी का आरोप है कि फोन करके लखनऊ में दर्ज एक मुकदमे में समझौता कराने का दबाव बनाया। समझौता न होने पर एडीजीसी के पद हटाने और जानमाल की धमकी दी। बुधवार को कई अधिवक्ताओं ने इस मामले में कार्यवाही की मांग की। इसलिए कैंट पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है। विधायक ने कहा है कि उनकी किसी अधिवक्ता से कोई बात नहीं हुई है। यह सब विरोधियों की साजिश है।
बुधवार की दोपहर आया फोन, दी गई धमकी
एडीजीसी ने पुलिस को बताया है कि बुधवार की दोपहर में दो बजे उनके पास मोबाइल नंबर 7081070001 से फोन आया। दूसरी तरफ से बात करने वाले ने खुद को
नौतनवां विधायक अमनमणि त्रिपाठी बताया। यह भी कहा कि आपके पड़ोस में रहने वाले ठेकेदार ऋषि पांडेय ने मेरे खिलाफ लखनऊ, गौतमपल्‍ली थाने में रंगदारी और अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया है। उसमें हम लोगों का समझौता करा दीजिए। एडीजीसी कहना है कि उन्‍होंने कोशिश करने की बात कहते हुए फोन काट दिया। उसके बाद से उनके पास दो बार काल आई। काल रिसीव करने पर अमनमणि ने समझौता कराने का दबाव बनाते हुए कहा कि यदि बात नहीं बनी तो विधि मंत्री से कहकर एडीजीसी के पद से हटवाने की धमकी भी दी। मामला सामने आने पर पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि सर्विलांस की मदद ली जा रही है। धमकी देने में इस्तेमाल मोबाइल नंबर विधायक का नही है।

Leave a Reply