सांसद रवि किशन की पहल, रोज सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक होगी यात्री विमान की उड़ान

0
3089

गोरखपुर। एयरपोर्ट से रोजाना उड़ान का समय बढ़ जाएगा। सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक यात्री हवाई जहाज की यात्रा कर सकेंगे। सांसद रवि किशन ने गोरखपुर एयरपोर्ट से फ्लाइट की टाइमिंग बढ़ाने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर उनको पत्र दिया था। सांसद के अनुरोध पर वायु सेना को इस संबंध में गाइड लाइन जारी हुई है। गोरखपुर में सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक उड़ान की अनुमति मिलने से आम जनता को सीधा फायदा मिलेगा। सांसद की पहल पर रक्षा मंत्रालय ने भारतीय वायु सेना को निर्देशित किया। इसके लिए सदर सांसद ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद दिया है।

फाइल फोटो।

बढ़ेगी फ्लाइट की संख्या, ज्यादा होगा आवागमन
अभी तक सुबह 11बजे से शाम 5 बजकर 30 मिनट तक ही उड़ान होती थी। जिससे आवागमन मे दिक्कतों का सामना लोगों को करना पड़ता था। अब ज्यादा समय मिलने से सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक कई जगहों के लिए हवाई जहाज उड़ान भर सकेंगे। यहां बता दें कि विमान कंपनी स्पाइस जेट एक मार्च से आठ मार्च और फिर 15 मार्च से 21 मार्च के लिए नई फ्लाइट चलाने की तैयारी में है। दिल्ली के लिए नई फ्लाइट शाम 4.05 बजे गोरखपुर पहुंचेगी। फिर आधे घंटे बाद यही विमान 4.35 बजे दिल्ली के लिए उड़ान भरेगा। वर्तमान में दिल्ली के लिए इंडिगो, स्पाइस जेट और एयर इंडिया की तीन उड़ान होती है। उधर विमान कंपनी स्पाइस जेट मुंबई के लिए भी अपनी दूसरी बंद पड़ी फ्लाइट जल्द शुरू कर सकती है। उम्मीद है कि समर शेड्यूल से यह सेवा शुरू हो सकती है।

फाइल फोटो।

विधायक ने सदन में रखी मांग, विकास कार्य के लिए दिए कई प्रस्ताव
पिपराइच विधानसभा क्षेत्र के विधायक महेंद्र पाल सिंह ने विधानसभा भवन में बजट सत्र के दौरान विधानसभा अध्यक्ष माध्यम से पिपराइच विधानसभा क्षेत्र में हो रहे विकास कार्य के लिए सरकार को धन्यवाद ज्ञापित किया। इस दौरान उन्होंने नगर पंचायत पिपराइच में रेलवे क्रॉसिंग पर ओवरब्रिज के निर्माण, चिलुआताल में फैलहवा घाट पर पुल का निर्माण, जंगल कौड़िया से कोनी को जोड़ने वाली फोरलेन सड़क का निर्माण कार्य और बालापार से बैजनाथपुर- -दौलतपुर- अमवा – गुलरिहा थाना होते हुए जंगल पकड़ी तक सड़क के चौड़ीकरण की मांग उठाई। उन्होंने कहा कि जन कल्याण के लिए सभी विकास कार्य नितांत आवश्यक हैं। इनके निर्माण से बड़ी आबादी को लाभ मिलेगा।

Leave a Reply