वर्दी पहनकर ट्रेन में चोरी करता था सोशल मीडिया का यह ‘स्टार’

0
354

गोरखपुर। वर्दी पहनकर टिकटॉक और स्नैक चैट के लिए वीडियो बनाने वाला शातिर ट्रेनों में यात्रियों से दोस्ती गांठकर उनका सामान चुरा लेता था। सीआरपीएफ की वर्दी में होने की वजह से लोग उससे आसानी से जुड़ जाते थे। गोरखपुर से होकर गुजरने वाली कई ट्रेनों में चोरी करने वाले शातिर को आरपीएफ और जीआरपी ने गोरखपुर से पकड़ा। ​पुणे, दिल्ली, मुंबई, छपरा, सिवान, आरा और जालंधर सहित कई जगहों पर सफर करने वाले अरविंद ने कैसरबाग में एक फल विक्रेता को चोरी का मोबाइल बेच दिया। सीआरपीएफ के एक एएसआई के घर खुद को उसकी बिरादरी का बताकर तीन दिनों तक ठिकाना बनाया रहा। आरोपित बलिया जिले के चितबड़ागांव,महारेव निवासी अरविंद तिवारी उर्फ भोला के पास सं चोरी के दो मोबाइल फोन, चार हजार रुपए, तीन फर्जी आधार कार्ड भी बरामद हुए हैं।

बिहार के यात्री का सामान लेकर हुआ गायब
बिहार, मुजफ्फरपुर के रहने वलो मोहम्‍मद फैजल ने शिकायत की। बताया कि वह लुधियाना में रहते हैं। 29 सितंबर को सप्‍तक्रांति एक्‍सप्रेस से मुजफ्फरपुर लौट रहे थे। कोच एस- 9 में सीट नंबर 20 पर उनकी बुकिंग थी। लखनऊ से ट्रेन आगे बढ़ी तो सीआरपीएफ की वर्दी पहने एक युवक उनके पास पहुंचा। कहा कि जम्मू— कश्मीर में उसकी तैनाती है। उसने बातचीत का सिलसिला बढ़ाकर घरवालों से बात करने के लिए फैजल से मोबाइल मांगा। एक नंबर पर फोन करके मोबाइल देकर बगल में खाली बर्थ पर बैठ गया। 30 सितंबर की सुबह जब ट्रेन गोरखपुर रेलवे जंक्शन पर पहुंची तो फैजल ने देखा कि उनके पास बैठा युवक गायब है। उन्होंने जीआरपी को सूचना दी। अपनी रिपोर्ट में कहा कि उनके बैग में रखा 50 हजार रुपया, दो लाख की ज्वेलरी और 25 हजार का मोबाइल फोन चोरी हो चुका है। उन्होंने मुज्जफरपुर पहुंचकर मुकदमा लिखवाया। बाद में इसकी जांच जीआरपी गोरखपुर को मिली। सर्विलांस के जरिए आरपीएफ और जीआरपी ने सीआरपीएफ की वर्दी पहने युवक को गिरफ्तार कर लिया।

Leave a Reply