पीएम मोदी की अगवानी को सीएम योगी ने संभाली कमान, अतिथि देवो भव की भावना से श्रीलंकाई प्रतिनिधिमण्डल का होगा स्वागत

0
222

कुशीनगर/गोरखपुर। तथागत भगवान बुद्ध की महापरिनिर्वाण स्थली कुशीनगर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रमों को अभूतपूर्व बनाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तैयारियों की कमान खुद संभाल रखी है। बुधवार (20 अक्टूबर) को प्रधानमंत्री यहां आ रहे हैं। मंगलवार दोपहर बाद कुशीनगर पहुंचे मुख्यमंत्री ने उनके तीनों कार्यक्रम स्थलों पर हुई व्यवस्थाओं का सघन जायजा लिया। इसके पहले मुख्यमंत्री 8 अक्टूबर को गोरखपुर सर्किट हाउस में कुशीनगर में पीएम के आगमन को लेकर समीक्षा बैठक करने के साथ ही 12 अक्टूबर को भी कुशीनगर का दौरा कर चुके हैं।

प्रधानमंत्री मंगलवार को कुशीनगर में इंटरनेशनल एयरपोर्ट का उद्घाटन करेंगे। इसके बाद महापरिनिर्वाण मंदिर में दर्शन, पूजन के बाद यहां तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय बौद्ध कॉन्क्लेव व अधिधम्म दिवस का शुभारंभ करेंगे। इसके बाद रामकोला रोड स्थित नारायणपुर (बरवा फॉर्म) में होने वाली जनसभा के दौरान ही वह मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास व 12 अन्य विकास परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण भी करेंगे।

मंगलवार दोपहर बाद सीएम योगी पीएम मोदी के कार्यक्रमों की तैयारियों का निरीक्षण करने पहुंचे। उन्होंने प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के मद्देनजर एयरपोर्ट, जनसभा स्थल,हेलीपैड और महापरिनिर्वाण मंदिर पर किए गए इंतजामों को देखा। अधिकारियों को सुरक्षा पर विशेष ध्यान देने की हिदायत दी और कहा कि इस दौरान किसी को भी कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्रिमंडल के मंत्रीगण व श्रीलंकाई प्रतिनधिमण्डल का अतिथि देवो भव की भावना से स्वागत करना है।

उत्तर प्रदेश देश में सर्वाधिक एयरपोर्ट वाला राज्य : सीएम योगी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इंटरनेशनल एयरपोर्ट के उद्घाटन और प्रधानमंत्री के अन्य कार्यक्रमों का जायजा लेने के साथ ही मीडिया से भी बात की। उन्होंने कहा कि कुशीनगर में पीएम मोदी के हाथों लोकार्पित होने जा रहा एयरपोर्ट प्रदेश का तीसरा फंक्शनल इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा। इसके साथ ही वर्तमान में उत्तर प्रदेश देश में सर्वाधिक फंक्शनल एयरपोर्ट वाला और सर्वाधिक एयरपोर्ट पर कार्य करने वाला राज्य है। वर्तमान में यहां आठ एयरपोर्ट संचालित हैं। कुशीनगर एयरपोर्ट के साथ यह संख्या नौ हो जाएगी। जबकि 2017 के पहले प्रदेश में दो ही एयरपोर्ट फंक्शनल थे, लखनऊ और वाराणसी। मुख्यमंत्री ने कहा कि पीएम मोदी ने पूर्व में कहा था कि उड़ान योजना विकास की नई उड़ान है। उन्होंने कहा था कि हवाई चप्पल पहनने वाला व्यक्ति भी हवाई जहाज से यात्रा कर सकेगा। उत्तर प्रदेश में पीएम की कही इस बात के साक्षात दर्शन हो सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह उत्तर प्रदेश का सौभाग्य है कि भगवान बुद्ध से जुड़े सर्वाधिक पावन स्थल यहां पर हैं लेकिन आजादी के बाद भी इनकी सम्भावनाओं का बेहतर उपयोग नहीं हो सका था। पीएम मोदी के मार्गदर्शन में बुद्ध सर्किट के जरिये इन प्रमुख स्थानों को जोड़ने और उनकी विकास की दिशा में तेजी से काम किया गया है। भगवान बुद्ध से आस्था और परम्परा से जुड़े देशों को भी इसी दिशा में तेजी से जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि बुधवार को यहां श्रीलंकाई सरकार का एक उच्च स्तरीय प्रतिनधिमण्डल भगवान बुद्ध के अवशेष के साथ आ रहा है जिसमें बौद्ध भिक्षुगण भी शामिल हैं। अतिथि देवो भव की भावना से उनका स्वागत करने के लिए कुशीनगर और पूरा प्रदेश उत्सुकता के साथ तैयार है। इस एयरपोर्ट से प्रारम्भ हो रही उड़ान यात्रा रोजगार और विकास की संभावनाओं को भी विस्तार देगी। यह व्यापक संभावनाओं वाला एयरपोर्ट है जो न सिर्फ श्रीलंका बल्कि जापान, कोरिया, लाओस, थाईलैंड, सिंगापुर, पड़ोसी मित्र राष्ट्र नेपाल को अंतरराष्ट्रीय वायुसेवा से जोड़ने का अवसर देगा। इसे भगवान बुद्ध की विराटता के साथ जोड़कर विकास का नया मार्ग प्रशस्त किया जा रहा है।

पीएम मोदी करेंगे राजकीय मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास
मुख्यमंत्री ने बताया कि पीएम मोदी के कर कमलों से कुशीनगर में राजकीय मेडिकल कॉलेज का भी शिलान्यास होगा। इसका लाभ कुशीनगर के साथ ही पश्चिमी बिहार के भी लोगों को मिलेगा। पीएम मोदी की अगुवाई में पिछले सात सालों में देश में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में शानदार काम हुआ है। उत्तर प्रदेश में 1947 से लेकर 2017 के पहले तक शासकीय क्षेत्र में 12 से 15 मेडिकल कॉलेज ही थे। 2017 के बाद साढ़े चार साल में 33 नए राजकीय मेडिकल कॉलेजों की स्थापना हो रही है। प्रधानमंत्री के हाथों 25 अक्टूबर को प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना से केंद्र व राज्य सरकार के साझा प्रयासों से सात नए मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण होने जा रहा है। गोरखपुर में एम्स भी बनकर तैयार है। अगले एक माह में पीएम के कर कमलों से इसका लोकार्पण प्रस्तवित है। रायबरेली में भी एम्स बनकर लगभग तैयार है और इसका लोकार्पण भी प्रधानमंत्री के हाथों कराया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में यूपी में आजादी के सात दशक में जितना काम नहीं हुआ था, पीएम के मार्गदर्शन में उससे अधिक बीते सात सालों में हुआ है।

Leave a Reply