माफिया राकेश के शूटर पर बरसीं पुलिस की गोलियां, गुलरिहा इलाके में सरेशाम हुआ एनकाउंटर

0
22437

गोरखपुर। मंगलवार की शाम के करीब साढ़े 6 बजे होंगे। अचानक मेडिकल कॉलेज के पीछे गोलियों की गूंज सुनाई पड़ी। लोगों ने घर से बाहर निकलकर देखा तो एक बाइक पर सवार 3 बदमाश भागते नजर आए। पीछे बैठा शातिर दोनों हाथों में पिस्टल से गोली दाग रहा था। कुछ लोग उनके पीछे चिल्ल्लाते हुए दौड़ रहे थे। पकड़ लो…..पकड़ लो भाग ना पाए। तभी गुलरिहा, चिलुआताल, शाहपुर और क्राइम ब्रांच की टीम पहुंच गई। पुलिस ने निशाना साधा तो एक बदमाश के पेट में गोली लगी। वह बाइक से गिर पड़ा। उसके दो साथी भाग निकले। पुलिस ने उसे काबू किया तो मालूम हुआ कि वह माफिया राकेश यादव के गैंग का शूटर विपिन सिंह है जो तीसरी बार छोटू प्रजापति की हत्या करने झुंगिया गया था। लेकिन इस बार वह खुद घिर गया। फिर भी उसने 10 साल के बच्चे सहित दो लोगों को गोली मार दी। दोनों को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। घायल बदमाश को डाक्टरों ने लखनऊ रेफर कर दिया। रास्ते में उसकी मौत हो गई।

अरुण के घर चढ़ा, छोटू की कर रहा था तलाश
शाहपुर क्षेत्र के जंगल सालिकराम, बधिक टोला निवासी हिस्ट्रीशीटर बदमाश विपिन सिंह, लॉक डाउन में एक हफ्ते पहले जमानत पर जेल से छूटा था। वह तभी से प्रॉपर्टी डीलर छोटू और अरुण की हत्या के फिराक में था। मंगलवार को देर शाम दो साथियों के साथ पिपराइच इलाके के जंगल छत्रधारी, टोला शाहगंज निवासी प्रापर्टी डीलर अरुण निषाद के घर पर चढ़कर उनके भाई दीपचंद निषाद (35) को गोली मार दी। उनके हाथ में गोली लगी है। वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों बदमाश एक ही बाइक से भाग रहे थे।

मुठभेड़ में जख्मी हुआ शूटर विपिन।

लोगों ने पीछा किया, कार से मारी टक्कर
ग्रामीणों ने उनका पीछा करना शुरू कर दिया। कार से पीछा कर रहे कुछ युवकों ने रास्ते में बदमाशों की बाइक में टक्कर मारी। जिससे तीनों बदमाश बाइक समेत सड़क पर गिर गए। ग्रामीणों को करीब आता देख तीनों गोली चलाते हुए भागने लगे। इस दौरान बदमाशों की गोली से शाहगंज निवासी राजीव शर्मा का पुत्र आदित्य शर्मा (10) घायल हो गया। गोली से बचने के लिए कुछ दूरी बनाकर ग्रामीणों ने उनका पीछा जारी रखा। चश्मदीदों के मुताबिक विपिन सिंह के दोनों हाथ में पिस्टल लेकर गोली चला रहा था।


भागते हुए चला रहे थे गोली
तीनों बदमाश पैदल भागते हुए में सेमरा और नौतन गांव के पास पहुंच गए। ग्रामीण भी पीछे थे। इस बीच क्राइम ब्रांच और मेडिकल कालेज चौकी और गुलरिहा थाने की पुलिस भी नौतन गांव के पास पहुंच गई। पुलिस वालों के घेराबंदी करने पर बदमाशों ने उन पर भी गोली चलानी शुरू कर दी। जवाबी गोलीबारी में विपिन सिंह घायल हो गया, लेकिन उसके दो साथी भीड़भाड़ का लाभ उठाकर भाग निकलने में कामयाब हो गए। बदमाशों की गोली से घायल दीपचंद निषाद और आदित्य को परिवार के लोगों ने तथा घायल बदमाश को पुलिस ने मेडिकल कालेज पहुंचाया।


28 फरवरी को पुलिस ने किया था गिरफ़्तार

छोटू प्रजापति पर हमले के आरोपित पादरी बाजार, बधिक टोला निवासी विपिन सिंह, अभिषेक सिंह, एलम्युनियम फैक्ट्री बशारतपुर निवासी अमित सिंह, जंगल क्षत्रधारी टोला शाहगंज निवासी दिनेश यादव को पुलिस ने 28 फरवरी की रात अरेस्ट किया था। पुलिस की पूछताछ में बदमाशों ने बताया था कि आशीष उर्फ छोटू के मर्डर की सुपारी माफिया राकेश यादव ने पांच लाख में दी थी। आशीष अपने दोस्त अरुण निषाद के साथ प्रापर्टी का काम करता है। दोनों पहले राकेश से जुड़े हुए थे। शूटर विपिन पर हत्या के दो, हत्या के प्रयास सहित 10 से अधिक मुकदमे दर्ज हैं।


दो बार हुआ छोटू प्रजापति पर हमला, बाल-बाल बची जान
शूटर विपिन सिंह और उसके साथियों ने छोटू प्रजापति पर दो बार हमला किया था। चार अक्टूबर 2019 को मोबाइल लेकर छोटू प्रजापित का विवाद हो गया था। चिलुआताल थाना पर तहरीर देकर वह लौट रहा था। तब बदमाशों ने उसकी कार पर गोली दागी थी। इसके बाद 14 दिसंबर की देर शाम एक बर्थडे से लौट रहे छोटू पर जानलेवा हमला हुआ था। गोली लगने से घायल छोटू को लंबे समय तक लखनउ में उपचार हुआ।

छोटू के केस की पैरवी से बदमाशों के निशाने पर आया अरुण
जंगल क्षत्रधारी निवासी अरुण निषाद अपने दोस्त छोटू पर हुए दो बार हुए हमले की करने लगा था। पैरवी के कारण विपिन सिंह अरुण के मर्डर की सुपारी ले ली। अरुण निषाद को जब पता चला कि उसकी जान को खतरा है तो तब उसने 26 फरवरी को झुंगिया निवासी राकेश यादव पर पिपराइच थाने में केस दर्ज कराया। हरकत में आई पुलिस ने जब विपिन सहित अन्य को अरेस्ट किया। इस मामले में झुंगिया निवासी माफिया राकेश यादव, जंगल क्षत्रधारी टोला लालगंज निवासी मंटू उर्फ  आकाश कन्नौजिया, कुशीनगर के खड्डा के मदनपुर के मूल निवासी व हाल मुकाम जंगल तिकोनिया नंबर एक के राजकुमार यादव और चिलुआताल के मंझगांवा निवासी सन्नी दुबे को फरार घोषित किया गया। बाद में अन्य की गिरफ्तारी हुई थी।

दो लोगों को गोली मारकर बदमाशों के भागने की सूचना मिली थी। घेराबंदी करने पर उन्होंने पुलिस पर भी गोली चलानी शुरू कर दी। जवाबी गोलीबारी में एक बदमाश घायल हुआ है। उसके साथियों की तलाश की जा रही है। पूछताछ के लिए कुछ लोग हिरासत में लिए गए हैं।
डा. सुनील गुप्ता, एसएसपी

Leave a Reply