हिमाचल में खाली कराया कमरा, गोरखपुर में फावड़े से काटकर कर दी हत्या, बांसगांव की घटना

0
95

गोरखपुर। हिमाचल प्रदेश में रूम पार्टनर के बीच हुए विवाद में गोरखपुर में मर्डर हुआ। बुधवार की रात कहासुनी के बाद 48 वर्षीय ज्ञान निषाद पुत्र स्व विन्ध्याचल की फावड़े से काटकर हत्या कर दी गई। आरोपित आकाश निषाद हत्या के बाद से ही फरार है। उसके मां— बाप को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। दो पक्षों के बीच हुए विवाद में उपजे तनाव को देखते हुए गांव में फोर्स तैनात कर दी गई है।

साथ लौटे गांव, झगड़े पर हमला करके ले ली जान
बांसगांव के हरिहरपुर केवटान टोला निवासी आकाश निषाद और 48 वर्षीय ज्ञान निषाद हिमाचल प्रदेश में रहकर प्राइवेट काम करते थे। दोनों गांव के थे। इसलिए वहां पर एक साथ किराए का कमरा ले लिया। करीब एक माह पूर्व कमरे पर किसी बात को लेकर दोनों के बीच कहासुनी हो गई। इसके बाद दोनों गांव लौट आए। बुधवार की रात हिमाचल प्रदेश में हुई घटना को लेकर दोनों के बीच बोलठोल होने लगी। दोनों के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि आकाश ने कुदाल से ज्ञान निषाद के पैरों पर हमला कर दिया। पैर कटने से अधिक खून बहने पर ज्ञान निषाद की हालत बिगड़ गई। परिजनों ने उसे मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। उपचार के दौरान गुरुवार की भोर में मौत हो गई।

आरोपित घर छोड़कर भागा, परिजनों से चल रही पूछताछ
रामज्ञान की मौत से परिवार में कोहराम मच गया। लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। पुलिस पहुंची तो आरोपित आकाश भाग गया। लोगों ने आरोप लगाया कि आकाश, उसकी बहन और एक अन्य दोस्त ने रामज्ञान की हत्या की है। आरोपित और पीड़ित एक ही गांव के रहने वाले हैं। इसलिए गांव में तनाव फैल् गया। दोनों तरफ से लोग एकजुट हो गए। इसलिए मौके पर भारी पुलिस बल बुला ली गई।

मकान खाली कराने पर हुआ था झगड़ा
पुलिस की जांच में पता लगा कि रामज्ञान निषाद ने हिमाचल प्रदेश में एक मकान खरीदा था जिसमें आरोपित का भाई साथ रहता था। किसी बात से नाराज होने पर रामज्ञान ने मकान खाली करा लिया। यह जानकारी आकाश को मिली तो वह काफी नाराज हुआ। इसी बात को लेकर उनके बीच पहले भी विवाद हुआ था।

“घटना में तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उनकी तलाश जारी है। जल्द ही आरोपित पकड़ लिए जाएंगे।”
अरुण कुमार सिंह, एसपी साउथ, गोरखपुर

Leave a Reply