गोरखपुर: बवाल पर बदला जिला पंचायत का चुनाव परिणाम, आरओ के खिलाफ एफआईआर, पुलिस चौकी और गाड़ी फूंकने वालों की तलाश

0
2391

गोरखपुर। जिला पंचायत चुनाव में हारे हुए प्रत्याशियों को जबरन जिताने के आरोप को लेकर झंगहा इलाके के नई बाजार में जमकर बवाल हुआ। ब्रह्मपुर ब्लाक में हुई वोटों की गिनती में धांधली करके जीते हुए प्रत्याशी को हराने का आरोप लगाते हुए सड़क पर उतरे लोगों ने पुलिस चौकी फूंक दी। एटीएम कैश वैन, पेट्रोल पंप और दो पीआरवी में तोड़फोड़ की। पीएसी की गाड़ी को आग के हवाले कर दिया। ब्लाक में भी जमकर उपद्रव मचाया। बुधवार की दोपहर बाद शुरू हुए हंगामे की गंभीरता को भांप पाने में पुलिस—प्रशासन के अधिकारी नाकाम रहे। बवाल के बाद हुई जांच में गड़बड़ी सामने आई तो चुनाव परिणाम बदल गए।


पुलिस चौकी जलाने की सूचना पर भारी पुलिस फोर्स संग अधिकारी मौके पर पहुंचे। उपद्रवियों की तलाश शुरू की गई। देर रात तक नई बाजार से लेकर ब्रह्मपुर तक अफरा—तफरी मची रही। लॉकडाउन के बीच हुई घटना से जिला प्रशासन हिल उठा। एसएसपी दिनेश कुमार पी ने मौके पर पहुंचकर मोर्चा संभाल लिया। एसएसपी का कहना है कि उपद्रव करने वाले बख्शे नहीं जाएंगे। वीडियो और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर सभी की पहचान की जाएगी।

यह है पूरा मामला, ऐसे बढ़ गया बवाल
— ब्रह्मपुर ब्लॉक के जिला पंचायत वार्ड नंबर 60 और 61 में हारे हुए प्रत्याशियों को जबरन जीत का प्रमाण पत्र देने को लेकर हंगामा शुरू हुआ।
— आरोप लगाया कि जिला पंचायत के वार्ड नंबर 60 से रविप्रताप निषाद और 61 से कोदई निषाद जीते थे। लेकिन उन दोनों को जीत का प्रमाण पत्र न देकर हारे हुए गोपाल और रमेश को दे दिया गया।
— बुधवार को ब्लाक से घोषणा किए जाने के बाद हारे और जीते सभी प्रत्याशी गोरखपुर चले गए। लेकिन समर्थकों का आक्रोश बढ़ता रहा।
— लोगों ने धांधली करके दो वार्ड के लोगों को जबरन हराने का आरोप मतगणना अधिकारियों पर लगाया। एक जनप्रतिनिधि के इशारे पर गड़बड़ी की बात कही।
— 3 बजे के बाद बड़ी संख्या में लोग ब्लाक मुख्यालय स्थित मतगणना स्थल पर इकट्ठा हो गए। लोगों ने वहां धरना—प्रदर्शन शुरू कर दिया।
— लोगों ने डीएम को मौके पर बुलाने की मांग की। कुछ लोग वहां से खेतों के रास्ते नई बाजार चौराहे पर पहुंच गए।
— एक हजार से अधिक लोगों की भीड़ जुटने पर लोगों ने नारेबाजी शुरू कर दी। कुछ महिलाएं और पुरुष नई बाजार में भी सड़क पर बैठ गए।
— लोगों के प्रदर्शन की सूचना पर नई बाजार चौकी की पुलिस पहुंची। इसके बाद झंगहा पुलिस भी आ गई।
— हंगामा होने पर एसडीएम पवन कुमार सहित अन्य अधिकारी पहुंचे। प्रदर्शन कर रहे लोगों को समझाने — बुझाने का प्रयास किया।
— प्रदर्शनकारियों ने एसडीएम से कहा कि धांधली करने वालों को जेल भेजा जाए। डीएम को बुलाकर जीते हुए प्रत्याशियों को प्रमाण पत्र दिया जाए।
— करीब दो घंटे तक चौराहे पर तमाशा चलता रहा। डीएम को न बुलाए जाने से लोगों का गुस्सा भड़कने लगा।
— नारेबाजी करते हुए मनबढ़ों ने उधर से गुजर रही एटीएम कैश वैन पर हमला बोल दिया। चौराहे के पास स्थित पेट्रोल पंप पर तोड़फोड़ करती हुई भीड़ नई बाजार पुलिस चौकी में पहुंच गई। वहां खड़ी गाड़ियों में आग लगा दी।
— कुछ लोगों ने ब्लाक की तरफ गाड़ी पीएसी की गाड़ी को फूंक दिया। ब्लाक में भी उपद्रव मचाया।
— घटना से पूरे इलाके में अफरा- तफरी मच गई। जिले के कई थानों की पुलिस, अतिरिक्त फोर्स और फायर बिग्रेड की गाड़ियों को मौके पर भेजा गया।

बवाल हुआ तो बदल गए चुनाव परिणाम, आरओ पर दर्ज हुआ मुकदमा
झंगहा के नई बाजार में बवाल के बाद जिला पंचायत के 3 वार्डों में परिणाम बदल गए। जांच में सामने आया कि ब्रह्मपुर के रिटर्निंग ऑफिसर ने गड़बड़ी की थी जिससे हारे हुए प्रत्याशी चुनाव जीत गए। इसी वजह से बुधवार को लोगों ने बवाल किया। आरोप है कि एक नेता के दबाव ऐसा हुआ था। अभी आगे की जांच जारी है। लेकिन गड़बड़ी और बवाल के जिम्मेदार ब्रह्मपुर के आरओ सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता (एक्सईएन) के खिलाफ डीएम ने मुकदमा दर्ज करा दिया है।

वोटों में हेरफेर करके आरओ ने बनाया विजेता
जिला पंचायत वार्ड संख्या 60 से गोपाल यादव को जीत का प्रमाण पत्र दिया गया था। बूथवार मतों में यहां से रवि प्रताप निषाद आगे थे। लेकिन जब कुल मतों में गोपाल को आगे दिखाया गया। वार्ड संख्या 61 में कोदई साहनी आगे थे। लेकिन कुल मतों में हेरफेर कर रमेश को चुनाव जिताया गया। वार्ड संख्या 45 बड़हलगंज प्रथम में स्थानीय आरओ ने सही रिपोर्ट भेजी थी। लेकिन जिला मुख्यालय पर लिपिकीय त्रुटि से रामअचल को जीता हुआ दिखाया गया। तीनों वार्डों में प्रमाण पत्र भी दिया जा चुका था। वार्ड नंबर 60 एवं 61 के उम्मीदवारों ने बेईमानी का आरोप लगाकर बवाल कर दिया। जिसके बाद बुधवार देर रात जिलाधिकारी, सीडीओ और एडीएम एफआर ने मैनुअली मिलान किया।

Leave a Reply