गोरखपुर महोत्सव में विशेष कौशल दिखाएंगे दिव्यांग बच्चे, अलग-अलग कैम्प में सीआरसी करा रहा तैयारी

0
10393

गोरखपुर। गोरखपुर महोत्सव में जहां फिल्मी सितारों से शाम की महफ़िल सजेगी। कला के मंच पर तरह-तरह की प्रतिभाए दिखेंगी। वहीं इस बार मेंटली और फिजिकली चैलेंज्ड बच्चे भी अपना कौशल दिखाएंगे। सीआरसी गोरखपुर की तरफ से बच्चों को रैंप पर कैटवॉक करने की ट्रेनिंग दी जा रही है। कैट वॉक में श्रवण बाधित बालकों को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा। भारतीय सांकेतिक भाषा में राष्ट्रगान बालक प्रस्तुत करेंगे। अस्थिबाधित दिव्यांग बच्चे व्हील चेयर रेस कॉम्प्टीशन में भाग लेंगे।

गोरखपुर मंडल के विभिन्न जगहों से आए हुए बच्चे पारंपरिक परिधान को प्रजेंट करेंगे। कैटवॉक में आठ बच्चे शामिल होंगे। राष्ट्रगान गान में उनके साथ- साथ सामान्यजनों के साथ ही मंच के नीचे 20 अन्य बच्चे भी गायन में शामिल होंगे। समेकित क्षेत्रीय कौशल विकास पुर्नवास एवं दिव्यांगजन शक्तिकरण केंद्र गोरखपुर के डायरेक्टर रमेश कुमार पांडेय ने बताया कि बच्चों की तैयारी चल रही है।

सीएम ने कहा, लोकल आर्टिस्ट को मिले ज्यादा मौका
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहाकि गोरखपुर महोत्सव में स्थानीय कलाकारों को अधिक से अधिक मौका दिया जाए। लोक कला एवं लोक संस्कृति को बढ़ावा देना और आगे बढ़ाना ही महोत्सव का उद्देश्य है। शनिवार की शाम गोरखनाथ मंदिर में सीएम, महोत्सव की तैयारी को लेकर बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहाकि शासकीय योजनाओं को भी महोत्सव से जोड़ा जाए। अलग-अगल दिन के लिए अलग-अलग थीम हो। प्रशासनिक अफसरों ने बताया कि
महोत्सव की शिल्प प्रदर्शनी में 12 राज्यों के शिल्पी आ रहे हैं। बैठक में अन्य मुद्दों पर भी चर्चा हुई।

Leave a Reply