25 हजार रुपए चाहिए तो करिए गोरखपुर पुलिस की मदद, नाम-पता रहेगा गोपनीय

0
414

गोरखपुर। जिले में सर्राफा कारोबारियों के झोले लेकर भागने वाले बदमाशों की सूचना देने वाले व्यक्ति को पुलिस इनाम देगी। शाहपुर और गोरखनाथ इलाकों में हुई घटनाओं में सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस बदमाशों की तलाश कर रही है। बदमाशों तक पहुंचने के लिए पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज जारी किया है। एसएसपी ने कहा है कि फुटेज पहचानकर पुलिस को सूचना देने वाले व्यक्ति को 25 हजार रुपए का इनाम दिया जाएगा। सूचना देने वाले व्यक्तियों का नाम और पता गोपनीय रहेगा। बदमाशों पर इनाम घोषित करने के साथ—साथ पुलिस अब लोगों को जागरूक कर रही है। सभी थानेदार और चौकी प्रभारी मीटिंग करके व्यापारियों से सावधानी बरतने की अपील कर रहे हैं। पुलिस का कहना है कि दुकानों में हाई क्वालिटी के सीसीटीवी कैमरे भी लगवा लें।

इन नंबरों देनी होगी सूचना
सीओ गोरखनाथ/क्राइम — 9454401413
इंस्पेक्टर गोरखनाथ — 9454403511
प्रभारी निरीक्षक शाहपुर — 9454403523
एसओजी प्रभारी गोरखपुर — 9454333002
स्वाट प्रभारी गोरखपुर — 9450459957

इन घटनाओं ने दी पुलिस को चुनौती
06 अप्रैल 2021: शाहपुर इलाके में ज्वेलरी और नकदी रखा हुआ झोला लेकर बदमाश भाग गए।
05 अप्रैल 2021: गोरखनाथ एरिया के हुंमायूपुर में बदमाशों ने सर्राफ से छीनाझपटी की, वह गिरकर घायल हो गए।
02 अप्रैल 2021: शाहपुर एरिया के चरगांवा रेल विहार में पहले से रेकी कर रहे बदमाश गहनों का झोला लेकर बदमाश भाग गए। झोले में लैपटॉप और नकदी भी रखी थी।
01 अप्रैल 2021: गोरखनाथ एरिया के 10 नंबर बोरिंग के पास बदमाशों ने बाइक पंचर करके घटना को अंजाम दिया। दुकान बंद करके घर जाने की तैयारी कर रहे सर्राफ का झोला लेकर बदमाश भाग गया। झोले में 66 ग्राम सोने, 300 ग्राम चांदी की ज्वेलरी और 67 हजार रुपए नकदी थी।


यह कर रहे अपील
— सभी लोग अपनी दुकानों में अच्छी क्वालिटी के कैमरे लगवाएं।
— दुकान के आगे बेवजह गाड़ी खड़ी करने, खुद खड़े होने वालों से टोकाटाकी करें।
— घर से दुकान तक कीमती ज्वेलरी और नकदी ले जाने के दौरान काफी सजग रहें।
— दुकान पर काम करने वाले अपने कर्मचारियों का वेरीफिकेशन कराएं।
— सभी कर्मचारियों का नाम, मोबाइल नंबर साथ रखें।
— लाइसेंसी असलहा हो तो उसे साथ रखें। ज्वेलरी को झोले में न रखें।
— ज्यादा बड़ी रकम और ज्वेलरी होने पर लोकल पुलिस को सूचना देकर मदद लें।
— बीट कांस्टेबल का मोबाइल नंबर भी रखें आवश्यकता पड़ने पर सूचना दें।
— दुकान के सामने अपना मोबाइल न लिखें, अक्सर अपराधी इसका दुरुपयोग करते हैं।

शहर में जो भी घटनाएं हुई हैं। पुलिस उनकी छानबीन कर रही है। बदमाशों की सीसीटीवी फुटेज जारी की गई है। यदि उनके बारे में किसी को कोई सूचना मिले तो वह पुलिस को बताएं। सूचनादाता कस नाम और पता गोपनीय रखा जाएगा।
दिनेश कुमार पी, एसएसपी

Leave a Reply