दुबई में पूर्वांचल के कामगारों के लिए फरिश्ता बनीं कनक

0
944

गोरखपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण से पूरी दुनिया दहल रही है। ऐसे में विदेश में रहकर रोजी—रोटी कमाने वाले कामगारों के लिए वतन लौटने की मजबूरी भी है। लॉक डाउन के दौरान जहां—तहां फंसे लोगों की मदद के लिए फिल्मी कलाकारों ने भी मदद का हाथ बढ़ाया है। बिहार, गोपालगंज की मूल निवासी भोजपुरी फिल्म ​एक्ट्रेस कनक पांडेय भी कामगारों के लिए फरिश्ता बनकर अपने नाम की चमक फैला रही हैं। गोरखपुर के गीडा में 20 साल से अधिक समय गुजार चुके परिवार की इस बेटी ने दुबई में फंंसे तीन हजार से अधिक कामगारों को हवाई जहाज से घर भेजने में मददगार बनी हैं। पूर्वांचल प्रवासी मिलन संस्‍था की मदद से दुबई में फंसे पूर्वांचल के कामगारों को घर पहुंचाने में मदद की। 19 जून से अब तक 13 फ्लाइट में तीन हजार लोग दुबई से भारत आ चुके हैं। अभिनेत्री का कहना है कि आगे भी उनका यह अभियान जारी रहेगा।
अभिनेत्री कनक पांडेय मूल रूप से तो गोपालगंज, बिहार की रहने वाली हैं। लेकिन वह पली-बढ़ी गोरखपुर में हैं। 20 साल से उनका परिवार गीडा में रहता है। उनके पिता आमोद प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते हैं। 15 दिन पहले ही कनक पांडेय दुबई से गोरखपुर पहुंची हैं। कनक ने बताया कि वह पूर्वांचल प्रवासी मिलन (पीपीएम) की सह संस्थापक हैं। झारखंड के रहने वाले साकेत कुमार संस्था के चेयरमैन हैं। यूपी, बिहार और झारखंड के रहने वाले 700 अन्‍य लोग भी पीपीएम से जुड़े हैं। सभी के सहयोग से दुबई में फंसे गोरखपुर, देवरिया, बस्‍ती, लखनऊ, वाराणसी के अलावा बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और राजस्‍थान के कामगारों को 13 फ्लाइट के जरिए बारी—बारी घर भेजा गया। फ्लाइट के आधे किराए का भुगतान पूर्वांचल प्रवासी मिलन ने किया। आधी रकम का भुगतान कामगारों ने खुद किया।

Leave a Reply