लॉक डाउन: सांसद रवि किशन की पहल, गोरखपुर लोकसभा क्षेत्र के हैं निवासी तो घर लौटने को भरें यह फार्म

1
3859

गोरखपुर। लॉक डाउन में परदेस में फंसे हजारों लोगों के लिए राहत भरी खबर है। यूपी के बाहर विभिन्न प्रदेशों में परेशानी उठा रहे लोगों के जल्दी घर लौटने के लिए गोरखपुर के सांसद रवि किशन शुक्ला ने पहल की है। सांसद की तरफ जारी लिंक को क्लिक करके पीड़ित अपना पूरा ब्यौरा मुहैया करा सकते हैं। सांसद से जुड़े लोगों का कहना है कि पूरी डिटेल भरे जाने के बाद इसकी सूचना शासन—प्रशासन के जिम्मेदार लोगों को दी जाएगी। ताकि फंसे हुए लोगों की सकुशल वापसी हो सके।

सांसद रवि किशन की पहल
गोरखपुर सहित पूर्वांचल के लाखों लोग मुंबई, दिल्ली, चेन्नई, बंगलूरू सहित अन्य जगहों पर कमाने के लिए जाते हैं। लॉक डाउन लागू होने के बाद ज्यादातर लोग जहां—तहां फंस गए हैं। इससे गांव—घर पर मौजूद उनके परिजन भी परेशान हैं। राशन और नकदी के अभाव में तमाम युवक पैदल ही घर लौट रहे हैं। हजारों मील की यात्रा करके वह घर पहुंचने की कोशिश में लगे हैं। पैदल, साइकिल, ठेला, रिक्शा और अन्य दूसरे साधनों से किसी तरह से युवक अपने घर के आसपास तक पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं। प्रवासी मजदूरों, कामगारों की समस्या को देखते हुए सरकार ने ट्रेन और बस चलाकर लोगों को उनके घर तक पहुंचाने की व्यवस्था की है। स्पेशल ट्रेन चलाकर प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इन सभी समस्याओं को देखते हुए सदर सांसद ने व्यवस्था शुरू कराई है। जिसके जरिए जुटाई गई सूचना मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को उपलब्ध कराई जाएगी। इसके आधार पर जहां—तहां फंसे लोगों का ब्यौरा उपलब्ध कराकर उनके घर लौटने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी।

सोशल मीडिया पर जारी किया गया यह मैसेज

यदि आप #गोरखपुरलोकसभाक्षेत्र के रहने वाले है और उत्तर प्रदेश से बाहर किसी अन्य प्रदेश मे फंसे है तथा घर वापस आना चाहते है। कृपया नीचे दिए गए #लिंक को क्लिक करके अपना पूर्ण विवरण भरे जिससे आपकी मदद की जा सके। आपकी पूरी जानकारी मुझे मिल जाएगी और मैं माननीय मुख्यमंत्री जी तक इसको भेज कर आपको शीघ्र अपने घर वापस लाने हेतु निवेदन करुंगा। ताकि आपको सीघ्र वापस लाया जा सके।तब तक कृपया आप लोग धैर्य और संयम का पालन करे।
आपका अपना सांसद
“रवि किशन”
https://docs.google.com/forms/d/1mAYqjl-KcoRZ_gK0aRGOOgx53Sm3Fd2TFyjlbhZl7eM/

लिंक क्लिक करने पर भर सकेंगे फार्म

ईमेल आईडी
नाम और पता, कहां के मूल निवासी हैं
किस प्रांत में कहां, किस जिले में फंसे हुए हैं
संबंधित व्यक्तियों का मोबाइल नंबर और अन्य जानकारी

1 COMMENT

Leave a Reply