रेत पर उकेरी बिस्मिल की आकृति, जीवंतता देखकर लोग कह उठे वाह!

0
598

गोरखपुर। गुरुकृपा संस्थान और अखिल भारतीय क्रांतिकारी संघर्ष मोर्चा के तत्वावधान में शहीद मेला के सातवें राप्ती नदी के राजघाट तट पर रेत शिल्प कलाकारों ने अमर शहीद पंडित राम प्रसाद बिस्मिल की आकृति रेत पर बनाई। रेत और मिट्टी के मिश्रण से बनी कलाकृति को देखने के लिए लोगों का रेला लगा रहा। शहीदों को नमन करने के अद्भुत कार्यक्रम को देखकर लोग बरबस वाह—वाह कर उठे। इस मौके पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के ललित कला एवं संगीत विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रख्यात चित्रकार डॉ.भारत भूषण, विशिष्ट अतिथि गोरखपुर विश्वविद्यालय के बायोटेक्नोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर शरद मिश्रा, होम्योपैथी कि वरिष्ठ चिकित्सक डॉक्टर रूप कुमार बनर्जी और एमपीपी आर्यकन्या इंटर कालेज में चित्रकला की प्रवक्ता डॉ.सुदीप्ता बी.भूषण ने चित्र का अवलोकन करते हुए सराहना की।

राष्ट्र भक्ति की अलख जगा रहा आयोजन
डॉ. भारत भूषण ने शहीद मेला के सफल आयोजन पर बृजेश राम त्रिपाठी को साधुवाद देते हुए कहा कि ऐसे आयोजन से राष्ट्र प्रेम की अलख जगाने के लिए युवाओं के जेहन में जगह बनाई जा सकती है। प्रो. शरद मिश्रा ने कहा कि यह आयोजन आने वाले समय में पूरे देश के लिए अनुकरणीय होगा। बिस्मिल के चित्र के साथ युवाओं के साथ— साथ बड़ी संख्या में महिलाओं ने सेल्फी ली। आयोजक बृजेश राम त्रिपाठी ने बताया कि रेत शिल्पकार महेश वर्मा उर्फ माऊ की टीम अपने चार सहयोगियों अभिषेक जायसवाल, विशाल सिंह, मोनू कुमार और राहुल शर्मा की टीम ने कलाकृतियां बनाई हैं। बिस्मिल के चित्र में रंग भरकर उनके व्यक्तित्व को जीवंत कर दिया। ऐसा लगा कि जैसी तस्वीर बोल उठेंगीं। इस अवसर पर ज्ञानेंद्र ओझा, प्रोफेसर शरद मिश्रा, डॉ. सुमन पांडेय, अर्चना सिंह, पद्ममा गुप्ता, मीरा दुबे, ममता गुप्ता, मीनू गोयल, मीना श्रीवास्तव, दीपा पांडेय, चंदा सिन्हा विजय खेमका, अभिलाष ओझा, शोएब आलम अंसारी उर्फ दीपू, अभिषेक त्रिपाठी सहित कई लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply