तत्परता: बारिश में आधे घंटे के भीतर बरामद हुई किशोरी, ​चौकी इंचार्ज को मिला पांच हजार रुपए का इनाम

0
1231

गोरखपुर। सीएम सिटी में पुलिस सूचनाओं पर त्वरित कार्रवाई में जुटी है। सोमवार की शाम शाहपुर इलाके के पादरी बाजार मोहल्ले से लापता हुई 14 साल की किशोरी को पुलिस ने आधे घंटे में खोज निकाला। झमाझम बारिश के बीच त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस ने किशोरी को उसके परिजनों को सौंप दिया। पादरी बाजार पुलिस चौकी के इंचार्ज दीपक कुमार सिंह, कांस्टेबल उमाशंकर यादव और विजय शंकर गिरी की टीम ने सक्रियता दिखाते हुए कार्रवाई की। चौकी प्रभारी और उनकी टीम की सक्रियता पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार ने पांच हजार रुपए का इनाम दिया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि ऐसी सूचनाओं को संज्ञान लेकर त्वरित कार्रवाई करने वाले पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत किया जाएगा।

बारिश में महिला ने सूचना दी, हरकत में आ गए दीपक
सोमवार की शाम करीब सात बजे एक महिला पादरी बाजार पुलिस चौकी पर पहुंची। बताया कि डांटने से नाराज होकर उनकी 14 साल बेटी घर से कहीं चली गई है। एक घंटे से ज्यादा समय बीत जाने के बाद भी वह वापस नहीं आई। इतना कहने के बाद बेटी संग किसी अनहोनी की आशंका में महिला फूट—फूटकर रोने लगी। महिला की सूचना को चौकी इंचार्ज ने वायरलेस सेट के जरिए प्रसारित किया। खुद ही हॉक 21 पर तैनात सिपाही उमाशंकर और विजय शंकर गिरी को साथ लेकर लड़की की तलाश में निकल गए। तेज बारिश के बीच पुलिस ने करीब आधे घंटे तक छानबीन की। इसके बाद संगम चौराहे के करीब किशोरी को बरामद कर लिया। उसे समझाबुझाकर पुलिस घर ले गई। बेटी को सकुशल देखकर परिवारीजनों ने राहत की सांस ली। चौकी प्रभारी ने मां और बेटी दोनों को समझाया। ताकि दोबारा ऐसी घटना सामने ना आए। इस प्रकरण की जानकारी होने पर एसएसपी ने चौकी प्रभारी और दोनों कांस्टेबल के प्रोत्साहन के लिए पांच हजार रुपए का इनाम जारी किया।

पुलिस की मदद से घर पहुंची ​कुशीनगर की युवती
खोराबार इलाके के कुसम्हीं जंगल में रविवार की रात लावारिस हाल भटक रही युवती को पुलिस ने घर पहुंचाया। रविवार की रात पुलिस गश्त पर निकली थी। तभी किसी ने बताया कि कुसम्हीं जंगल में सूनसान रोड पर एक अकेली युवती पैदल जा रही है। रात नौ बजे अकेली युवती के जंगल में जाने की बात सुनकर कुसम्ही बाजार में मौजूद दरोगा और सिपाही पहुंच गए। युवती से बात करने पर मालूम हुआ कि वह कुशीनगर जिले की रहने वाली है। शाम को घर में खाना बनाने की बात को लेकर मां ने उसे डांट दिया। इससे नाराज होकर वह निकल गई। रास्ता भूलकर वह कुसम्हीं जंगल में पहुंच गई। कस्बे के एक व्यवसायी की कार से पुलिस ने रात में युवती को घर लेकर पहुंची। बेटी को सकुशल पाकर मां ने पुलिस का आभार जताया। मां ने कसम दिलाई कि वह दोबारा बेटी को नहीं डांटेगी। युवती की मां और परिवार के सदस्यों ने पुलिस के कार्य की सराहना की।

Leave a Reply