कोरोना: लाकडाउन के आदेश की अनदेखी पड़ सकती है भारी, गोरखपुर पुलिस ने जारी की गाइडलाइन

0
4024

गोरखपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए गोरखपुर सहित 15 जिलों को लाकडाउन कर दिया गया है। सुबह 9:30 बजे तक ही लोगों को सब्जी, दूध सहित अन्य जरूरी सामान खरीदने की इजाजत दी गई थी। इसके बाद सड़कों पर पुलिस मुस्तैद हो गई। ट्रांसपोर्टेशन के सभी साधनों को रोक दिया गया है।

जगह-जगह नाकेबंदी करके पुलिस लोगों को वापस घर लौट आ रही है। गैरजरूरी कामों के लिए निकले लोगों को कई जगहों पर पुलिस ने लौटा दिया। बैरियर पर आवाजाही कर्मचारियों से भीड़ जा रहे हैं। इसलिए पुलिस ने सख्ती शुरू कर दी है। जनता की मनमानी को देखते हुए गोरखपुर पुलिस ने एक निर्देश जारी किया।

यह है गोरखपुर पुलिस-प्रशासन की गाइड लाइन
लाकडाउन के दृष्टिगत आवश्यक सेवाओं को छोड़कर समस्त सरकारी कार्यालय एवं शैक्षणिक संस्थान, अर्द्धसरकारी उपकरण, स्वायत्तशासी संस्थाएं, राजकीय निगम/मंडल, व्यापारिक प्रतिष्ठान, निजी कार्यालय, माल, दुकानें, फैक्टियां, वर्कशाप, गोदाम और परिवहन (रोडवेज, सिटी परिवहन, प्राइवेट बसें, टैक्सी, आटो रिक्शा) पूरी तरह से बन्द रहेंगे। आमजन सुबह 9ः30 बजे तक अपनी आवश्यक सामग्री, पेपर, दूध, राशन और सब्जी सहित अन्य सामान खरीद सकेंगे। जनपद में धारा 144 लागू है।

इसलिए चार से अधिक व्यक्तियों को पब्लिक प्लेस पर रुकने नहीं दिया जाएगा। किसी स्थल पर एक़त्र होने की पूर्णतः मनाही रहेगी। किसी भी सामाजिक/सांस्कृतिक/राजनैतिक/ धार्मिक/ शैक्षणिक/खेल/संगोष्ठी/सम्मलेन, धरना का आयोजन निषिद्ध रहेगा। जनपद के नागरिक अपरिहार्य स्थिति के अलावा घर से न निकलें अन्यथा उनके विरुद्ध आवश्यक विधिक कार्यवाही की जाएगी।

डीएम ने की समीक्षा बैठक, जारी हुई गाइड लाइन
जिलाधिकारी सभागार में डीएम के. विजयेंद्र पांडियन ने कोरोना वायरस की रोकथाम हेतु अब तक किए गए कारगर उपाय और प्रभावी नियंत्रण के लिए समीक्षा बैठक बुलाई। विभिन्न विभागों के अधिकारियों संग बैठक में डीएम ने कहा कि ग्रामीण स्तर पर ग्राम पंचायत, ग्राम प्रधान, नगर पंचायत, क्षेत्र पंचायत, नगर परिषद और नगर निगम स्तर पर एक कमेटी बनाई जाए। जिसमें ग्राम प्रधान, सफाई कर्मचारी और मोहल्ले के जनप्रतिनिधि को अनिवार्य रूप से शामिल किया जाए। जो प्रतिदिन जिला स्तर पर संबंधित अधिकारियों को सूचना प्रेषित करें। साथ में ही जिलाधिकारी ने सभी वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी ग्राम सभा, क्षेत्र पंचायत, जिला पंचायत और नगर निगम क्षेत्रों में सेनिटेशन किया जाए। जिलाधिकारी ने सीएमओ से कहा कि अपनी टीमों को, जो कोरोना महामारी से निपटने हेतु प्रशिक्षित हैं। उनको हरदम अलर्ट मोड पर रखें।

Leave a Reply