कोरोना से जिंदगी बचाने की जिद, आक्सीजन के साथ दे रहे भोजन का पैकेट

0
1277

गोरखपुर। शहर में कोरोना संक्रमण से जूझ रहे लोगों को आक्सीजन के साथ—साथ भोजन पैकेट उपलब्ध कराने के लिए स्वयं सेवकों ने सेवा कार्यक्रम शुरू किया है। सेवा कार्यक्रम समित के सदस्य आक्सीजन बिना न जाए जान अभियान के तहत जरूरतमंदों को आक्सीजन कंस्ट्रेटर मशीन चार से सात दिनों के लिए मरीजों को निशुल्क उपलब्ध करा रहे हैं। समिति के विजय खेमका ने बताया कि स्वयं सेवक कार्यकर्ता जरूरतमंदों की मदद में निरंतर लगे हुए हैं। जरूरत के अनुसार लोगों को आक्सीजन, बेड, दवा और भोजन पैकेट भी दिए जा रहे हैं। इसके लिए संस्थान के सदस्यों ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं जिस पर काल करके संक्रमित मदद ले सकते हैं।

हेल्पलाइन नंबर
विजय खेमका — 07376215100
राजू लुहारिका — 09336774210
दुर्गेश त्रिपाठी — 09695979911
अनुराग — 08009324212

2200 को कराया भोजन, आठ को दिया आक्सीजन कंस्ट्रेटर मशीन
सेवा कार्य से जुड़े लोगों का कहना है कि अभी तक आठ मरीजों को आक्सीजन कंस्ट्रेटर, 2200 लोगों को भोजन का पैकेट उपलब्ध कराया गया है। सौ अन्य लोगों भी मदद पहुंचाई गई है। इस अभियान में दुर्गेश त्रिपाठी, विजय खेमका, राजू लुहारिका, मुकेश दुआ, आजाद पांडेय, आकाश कुमार गौरव दत्त शुक्ला, अनुराग, संजय, विवेक अस्थाना, दीपक कुमार, विश्व हिंदू परिषद, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, स्माइल रोटी बैंक भी संस्थान के भोजन के वितरण में योगदान दे रही है।

विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल गोरक्ष प्रांत के सह संयोजक दुर्गेश त्रिपाठी ने बताया कि गोरखपुर महानगर में भी कोरोना में आक्सीजन की आवश्यकता महसूस की गई। मार्केट में जरूरी दवाओं का अभाव, अस्पतालों में खाली बेड न होना, मृतकों के दाह संस्कार की जानकारी का अभाव भी सामने आया है। इसलिए स्वयं सेवकों की जिम्मेदारी तय कर दी गई है। फोन आने पर भोजन, दवा, खाली बेडों की जानकारी सहित अन्य सुविधाएं भी मुहैया कराई जा रही हैं। सेवा कार्य में डा. आरपी शुक्ला, डा. स्मिता जायसवाल, विष्णु प्रताप सिंह, अजीत पांडेय, अशोक सिंह, माया गुप्ता, रागिनी श्रीवास्तव, गंगा सागर मनोज गौड़, गौरव राय सहित अन्य लोग सराहनीय भूमिका निभा रहे हैं।

Leave a Reply