अपहरण कर फिरौती मांगी, बच्चे की कर दी हत्या

0
1499

गोरखपुर। पिपराइच थाना क्षेत्र के पान विक्रेता के बेटे का अपहरण करके बदमाशों ने कत्ल कर दिया। सोमवार की दोपहर करीब तीन बजे सोमवार शाम केवटिया टोला के पास नाले के भीतर बोरे में भरकर फेंकी गई लाश बरामद हुई। घटना से परिवार में कोहराम मच गया है। कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। कुछ अन्य की तलाश चल रही है। बच्चे का अपहरण करके किडनैपर ने उसके पिता से एक करोड़ रुपए की फिरौती मांगी थी। एसएसपी गोरखपुर डॉ.सुनील गुप्ता ने बताया है कि एक अभियुक्त दयानंद राजभर जंगल छत्रधारी का रहने वाला है। घटना में इस्तेमाल मोबाइल फोन और सिमकार्ड भी बरामद हुआ है। फर्जी नाम पते पर सिमकार्ड देने वाले दुकानदार रिंकू गुप्ता और निकेश को पुलिस ने पकड़ा है। बताया जाता है कि दयानंद ने रविवार की शाम पांच बजे ही बच्चे को मार दिया था। उसे नशे की दवा भी दी गई।

रविवार की दोपहर किया था अपहरण
जंगल छत्रधारी गांव में मिश्रौलिया टोला निवासी महाजन गुप्त घर में ही पान और किराने की दुकान चलाते हैं। कुछ साल पूर्व तक वह जमीन के धंधे से भी जुड़े थे। उनका 14 साल का बेटा बलराम छठवीं में पढ़ता था। रविवार दोपहर करीब 12 बजे खाना खाने के बाद दोस्तों के साथ खेलने निकला। फिर वह लापता हो गया। करीब तीन घंटे के बाद तीन बजे महाजन गुप्त के मोबाइल पर किसी अंजान व्यक्ति का फोन आया। दूसरी तरफ से बोलने वाले ने बताया कि बलराम का अपहरण हो गया है। उसे छुड़ाने के लिए एक करोड़ रुपए का इंतजाम कर लो। रुपया कब और किसे देना है। इसके बारे में बताया जाएगा। महाजन ने उस नंबर पर दोबारा फोन किया तो वह स्विच ऑफ मिला। महाजन को अपने बेटे के अपहरण की बात पर भरोसा नहीं हुआ। उन्होंने अपने बेटे की गांव में खोजबीन की। लेकिन उनको कोई जानकारी नहीं मिली। शाम पांच बजे दोबारा फिरौती के लिए फोन आया तो उन्होंने पुलिस को जानकारी दी। अपहरण की बात सामने आने पर पुलिस बच्चे की खोजबीन में लग गई। सोमवार की दोपहर बाद बच्चे की डेड बॉडी मिली। पकड़े गए लोगों से पूछताछ करके पुलिस जानकारी जुटा रही है।

Leave a Reply