श्रीराम की नगरी में परशुराम बने सांसद रवि किशन, बोले: जीवन का सबसे बड़ा सौभाग्य

0
266

गोरखपुर। अयोध्या में हो रही रामलीला में सांसद रवि किशन शुक्ला परशुराम की भूमिका निभा रहे हैं। सांसद रवि किशन शुक्ला ने शनिवार को जारी बयान में कहा कि मेरे लिए मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम की नगरी अयोध्या में रामलीला के मंच पर अभिनय करना जीवन का सबसे बड़ा सौभाग्य है। सांसद रवि किशन शुक्ला ने कहा कि अभिनय के क्षेत्र में गांव की रामलीला के मंच से मैंने एक्टिंग की शुरूआत की। रामलीला के मंच से अयोध्या की रामलीला के मंच तक मैंने एक लंबा सफर तय किया है। संघर्षों के बाद इस मंच पर पहुंच। श्रीराम की शरण में आकर और अभिनय करके मैं अपने आप को सौभाग्यशाली समझता हूं। सांसद रवि किशन शुक्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश का और अयोध्या का चौमुखी विकास हो रहा है। आज अयोध्या विश्व मानचित्र पर स्थापित हुआ है। इसका पूरा श्रेय हमारे प्रधानमंत्री और सीएम को जाता है।

परशुराम की भूमिका महत्वपूर्ण, प्रेरणा देती श्रीराम की कथा
सांसद रवि किशन शुक्ला ने कहा कि राम और राष्ट्र के सम्मान के साथ ही साथ गरीब दीन दुखियों के विकास का कार्य मोदी और योगी जी के नेतृत्व में चल रहा है और विकास और राष्ट्रवाद का यह अभियान निरंतर आगे बढ़ता रहेगा। सांसद ने कहा कि परशुराम की भूमिका मेरे लिए विशेष थी। वह दृश्य जब शिव धनुष यज्ञ खंडन के उपरांत भगवान परशुराम के रूप में आगमन जिसका रामायण में वर्णन है “देखत भृगुपति बेषु कराला। उठे सकल भय बिकल भुआला॥ पितु समेत कहि कहि निज नामा। लगे करन सब दंड प्रनामा॥ परशुराम का भयानक रूप देखकर सब राजा भय से व्याकुल हो उठे। सब उनको दंडवत प्रणाम करने लगे।
सांसद रवि किशन शुक्ला ने कहा कि रामायण से हम अपने मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम के चरित्र से प्रेरणा लेकर के इस समाज को एक दिशा देने का कार्य करें। सांसद ने कहा कि रामलीला की परंपरा जो धीरे-धीरे समाप्त हो रही है। इसे गांव गांव रामलीला के कार्यक्रम का आयोजन होना चाहिए जिससे राम के चरित्र से लोग प्रेरणा ले सकें। इससे समाज में शिक्षा, अच्छे विचार और संस्कार लोगों के अंदर पुष्पित और पल्लवित हो।

Leave a Reply