आजादी का अमृत महोत्सव पर वेबिनार आयोजित, छिपे किरदारों को भी जान सकेंगे लोग

0
164

लखनऊ। भारत सरकार द्वारा मनाये जाने वाले आजादी का अमृत महोत्सव के संदर्भ में आयोजित वेबिनार में यह बात विशेषज्ञों द्वारा उल्लेखित की गई कि स्वतंत्रता आंदोलन में कुछ ऐसे किरदारों की भूमिका महत्वपूर्ण थी जिसके बारे में जनसामान्य परिचित नहीं है। आजादी के अमृत महोत्सव के जरिए जनसामान्य को स्वतंत्रता आंदोलन के साथ-साथ ऐसे किरदारों के बारे में भी जानने का अवसर प्राप्त होगा। इस वेबिनार का आयोजन प्रादेशिक लोक संपर्क ब्यूरो, सूचना और प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार, लखनऊ की तरफ से बुधवार को किया गया। वेबिनार की अध्यक्षता विभाग के अपर महानिदेशक आरपी सरोज ने की जबकि विशिष्ट अतिथि के तौर पर डॉ. महेन्द्र कुमार सिंह, सहायक प्रवक्ता, गोरखपुर विश्वविद्यालय ने भाग लिया। उन्होंने वेबिनार में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए बताया कि स्वतंत्रता आंदोलन में बहुत से ऐसे क्रांतिकारियों की अहम भूमिका रही है परन्तु कहीं न कहीं इतिहास में उनका नाम आम लोगों को पता नहीं है। ऐसे अज्ञात क्रांतिकारियों के बारे में जानकारी आम जनता तक पहुँचाने के लिए आजादी का अमृत महोत्सव का आयोजन कारगर सिद्ध होगा। मुख्य वक्ता के रूप में डॉ. संत सरन , अनुयायी आईसीएसएसआर, नई दिल्ली ने बताया कि भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में हर वर्ग के लोगों का योगदान रहा है परन्तु इतिहासकारों ने कुछ ही लोगों के बारे में जानकारी दी है जिस कारण से सभी क्रांतिकारियों एवं महापुरूषों के बारे में आम जन को जानकारी नहीं है।

विभाग के संयुक्त निदेशक श्री मनोज कुमार वर्मा ने वेबिनार में उपस्थित सभी अतिथियों एवं प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए भारत सरकार द्वारा चलाये जा रहे आजादी का अमृत महोत्सव – आजादी@75 के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि ब्यूरो और इसके अंतर्गत 12 इकाईयों द्वारा माह अगस्त 2021 से वर्ष भर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।
वेबिनार का संचालन क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी जय सिंह ने किया। उन्होंने वेबिनार में शामिल सभी अतिथियों और प्रतिभागियों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव भारत के सभी ज्ञात और अज्ञात क्रांतिकारियों एवं महापुरूषों के प्रति अपनी कृतज्ञता, सम्मान जाहिर करने का एक बहुत बड़ा अवसर है जिसको हम सभी को हर्ष और उल्लास के साथ मनाना चाहिए।

Leave a Reply