सीबीआई करेगी मनीष गुप्ता मर्डर की जांच

0
419

गोरखपुर। 27 सितंबर की रात रामगढ़ताल ​इलाके के होटल कृष्णा पैलेस होटल में मनीष की हत्या हुई थी। वह अपने दो दोस्तों हरियाणा के रहने वाले हरवीर सिंह और प्रदीप कुमार संग ठहरे हुए थे। रात में 12 बजे के बाद पहुंचे इंस्पेक्टर रामगढ़ताल जगत नारायण सिंह और सहयोगी पुलिस कर्मियों ने मनीष को पीट दिया। घटनास्थल पर उनकी मौत हो गई। इसके बाद पुलिस ने मामले को रफादफा करने का प्रयास किया। पोस्टमार्टम में हत्या की पुष्टि होने पर मनीष की पत्नी मीनाक्षी ने मुकदमा दर्ज कराया। इस मामले में इंस्पेक्टर समेत छह पुलिसकर्मी जेल भेजे जा चुके हैं। प्रकरण में मंगलवार को सीबीआई ने भी मुकदमा दर्ज कर लिया।

तहरीर को आधार बनाकर दर्ज किया केस
सीबीआई ने मनीष की पत्नी मीनाक्षी की तहरीर को आधार बनाया है। सीबीआई नए सिरे से एक-एक बिंदु पर पड़ताल करेगी। जल्द सीबीआई गोरखपुर जाकर घटनास्थल का निरीक्षण भी करेगी। कानपुर में बर्रा निवासी मनीष के परिजनों से मुलाकात कर घटना की जानकारी लेगी और उन्हें एफआईआर कॉपी भी सौंपेगी। मनीष की पत्नी मीनाक्षी ने सीएम योगी आदित्यनाथ से कानपुर में ही मुलाकात के दौरान भी सीबीआई जांच की मांग उठाई थी। बाद में उन्होंने दिल्ली सुप्रीम कोर्ट में अधिवक्ता के माध्यम से याचिका दायर की। इसी क्रम में सीबीआई लखनऊ यूनिट ने मंगलवार को हत्या की धारा में केस दर्ज किया। केस मीनाक्षी की उसी तहरीर पर दर्ज किया गया जिस पर गोरखपुर पुलिस ने एफआईआर लिखी थी।

इसलिए केस में इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह, दरोगा अक्षय मिश्रा, दरोगा विजय यादव व तीन अज्ञात पुलिसकर्मियों को आरोपी बनाया है। उधर प्रकरण की जांच कर रही कानपुर एसआईटी भी जल्द ही चार्जशीट फाइल करने की तैयारी कर चुकी थी।

Leave a Reply