बैंक से सीधे जुड़ेंगे किसान, अब खत्म हुआ परिवारवाद

0
364

— वित्तीय समस्याओं को दूर करने के लिए बनाई जाएंगी नई योजनाएं
— 14 अक्टूबर को बोर्ड की होने वाली बैठक में उठाई जाएंगी समस्याएं

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश सहकारी ग्राम् विकास बैंक लिमिटेड के सभापति संतराज यादव ने कहा कि किसानों को सीधे बैंक से जोड़ा जाएगा। बैंक की व्यवसायिक प्रगति को देखते हुए आगामी वर्षों के लिए ऐसी नीतियां और योजनाएं बनाई जाएंगी जो न केवल किसानों को पुन: बैंक से जोड़ेंगी। बल्कि किसानों के घर तक बैंक को पहुंचाएंगी। उन्होंने कहा कि सामान्य वर्ग के किसानों को साढ़े 13%, पिछड़े वर्ग के किसानों को चार से 6% और अनुसूचित जाति के किसानों को 2% ब्याज पर बैंक लोन देता है। निचले स्तर पर किसानों से संपर्क और संवाद किया जाएगा। न्याय पंचायत स्तर पर किसान क्लब का गठन किया जाएगा। गांव में चौपाल लगाए जाएंगे और लोगों को बैंक के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी।

24 साल से काबिज था एक परिवार, समस्याओं से जूझ रहा बैंक
नवनिर्वाचित सभापति संतराज यादव ने कहा कि विगत 24 वर्षों से सभापति पद पर सिर्फ एक ही परिवार का कब्जा था जिन्होंने न तो कभी बैंक के उत्थान के विषय में सोचा और ना ही किसानों के विकास के बारे में कोई काम किया। इसलिए बैंक विगत कई वर्षों से वित्तीय समस्याओं से जूझ रहा है। ऋण वितरण भी लगभग ठप पड़ा हुआ है। यह उनकी मानसिकता को दर्शाता है। बैंक के लोन न बांट पाने के कारण एक ओर जहां प्रदेश का किसान वित्तीय सहायता से वंचित है। वहीं बैंक के व्यवसाय में कमी आने का प्रभाव कर्मचारियों और बैंक की वित्तीय स्थिति पर भी पड़ रहा है। बताया कि यह प्रदेश स्तर की शीर्ष सहकारी समिति है जो कि प्रदेश के किसानों को कृषि और अकृषि क्षेत्र में दीर्घकालीन निवेश करने हेतु दीर्घावधि ऋण प्रदान करती है।

बैंक के क्रियाकलापों को देंगे नई दिशा
उन्होंने कहा कि बैंक को नई दिशा देना हमारी नैतिक जिम्मेदारी होगी। यह हमारी प्राथमिकता होगी कि भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश सरकार की नीतियों और दिशा निर्देशों के अनुसार बैंक के व्यवसायिक क्रियाकलापों को गति प्रदान करेंगे। बैंक की नवनिर्वाचित प्रबंध समिति की तरफ से 14 अक्टूबर को बोर्ड की बैठक बुलाई गई है। इस दौरान वित्तीय समस्याओं से जूझ रहे बैंक को उबारने और किसानों को मदद पहुंचाने की कार्य योजना बनाई जाएगी। बैंक के व्यवसाय को बढ़ाने में राज्य सरकार की मदद से नई—नई योजनाएं लागू कर बैंक को नई दिशा की ओर अग्रसर किया जाएगा।

Leave a Reply