कोरोना से निपटने को तैयार है गोरखपुर

0
3103

जनपद स्तर पर सक्रिय है रैपिड रिस्पांस टीम
• सीएमओ ने कहा, सतर्कता से करें कोरोना से बचाव, हाथ धोने की आदत को जन-जन तक पहुचाएं
• विदेश से लौटे 58 नागरिकों की हो रही है निगरानी, 02 नागरिकों की जांच में सब कुछ मिला ठीकठाक

गोरखपुर। देश में बढ़ रहे कोरोना वायरस के मरीजों के चलते इससे बचाव के लिए प्रमुख सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मिले निर्देशों के अनुसार जनपद और मंडल स्तर पर टीम गठित की जा रही है। जिले में रैपिड रिस्पांस टीम भी सक्रिय है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. श्रीकांत तिवारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने यह अपील की है कि जनसमुदाय अपनी सतर्कता से कोरोना से बचाव करें। हाथ धोने की आदत को जन-जन तक पहुचाएं। उन्होंने बताया कि जनपद में विदेशों से लौटे 58 नागरिकों की निगरानी की जा रही है। 02 संदिग्ध मामलों में जांच भी कराई गई जिसमें सब कुछ ठीकठाक मिला।

सीएमओ ने बताया कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए जिला अस्पताल और मेडिकल कालेज में बेड आरक्षित कर विशेष वार्ड बने हैं। विदेश से लौटे जिले के नागरिकों की लगातार निगरानी की जा रही है। बताया कि अभी तक जिले में 58 लोग चीन, वियतनाम, ऑस्ट्रेलिया, जापान, बीजिंग, लॉस एंजिल्स, और बैंकाक से लौटे हैं। उन सभी लोगों की निगरानी की जा रही है।
उन्होंने बताया कि विदेश से लौटने के बाद यदि किसी व्यक्ति को अचानक बुखार, खांसी और सांस लेने में परेशानी हो तो उसे तत्काल जांच करानी चाहिए। इसकी जानकारी लिए हेल्पलाइन नंबर-18001805145 (टोल फ्री) भी उपलब्ध है। विदेशों से आने वाले संदिग्ध रोगियों से संबंधित सूचना सीएमओ के सीयूजी 9415064904 पर भी दी जा सकती है।
इन बातों पर दें ध्यान
चीन से लौटे व्यक्ति को एक खुले हवादार कमरे में रखकर 28 दिन तक निगरानी करें।
• खांसते और छींकते समय मुंह पर कपड़ा, रुमाल रखना चाहिए।
• बातचीत में उचित दूरी बनाए रखें।
• भीड़भाड़ वाले स्थान पर जाने से परहेज करें।
• मुंह और नाक को छूने के बाद हाथों की अच्छी तरह से सफाई करें।

प्रमुख सचिव ने दिए ये निर्देश

  • मंडल, जिला स्तर पर टीम गठित की जाए।
  • टीम में सभी प्राइवेट अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड बनाया जाए। वेंटिलेटर की सुविधा वाले हॉस्पिटल की लिस्ट तैयार हो।
  • जनपद स्तर पर 5 एंबुलेंस आरक्षित रखी जाए।

Leave a Reply