तीन माह बाद शहर में दहाड़ेंगे बब्बर शेर, गुर्राएंगे बाघ और तेदुएं

0
3400

गोरखपुर। शहर में मार्च माह के अंत तक शेरों की दहाड़ सुनाई पड़ने लगेगी। रामगढ़ झील के पास चिड़ियाघर तैयार हो जाएगा। करीब ढाई किमी में बन रहे चिड़ियाघर घर का निरीक्षण वन मंत्री धारा सिंह चौहान ने किया। उन्होंने कहाकि गोरखपुर का शहीद अशफाक उल्लाह खां प्राणी उद्यान (चिड़ियाघर) देश का सबसे बेहतरीन चिड़ियाघर होगा। इसे नए साल में गोरखपुर की जनता को समर्पित कर दिया जाएगा ।

चिड़ियाघर को बेहतर बनाने के क्रम में कुछ नई चीजों को शामिल करने से अब इसका निर्माण कार्य मार्च तक ही पूरा हो पाएगा। उसके बाद चिड़ियाघर प्रबंधन जीव जंतुओं को यहां लानेे की प्रक्रिया शुरू कर देगा। प्राणी उद्यान की भव्यता के लिए कुछ नए कार्य भी जुड़ते जा रहे हैं। उन्होंने कहाकि बजट की कमी नहीं होने दी जाएगी।

34 एकड़ के वेटलैंड को देखकर वनमंत्री काफी खुश हुए। वेटलैंड के घने पेड़ होने पर कार्यदायी संस्था के प्रोजेक्ट मैनेजर डीबी सिंह से वॉच टॉवर बनवाने को कहा। पैदल चलकर उन्होंने एक-एक निर्माणाधीन बाड़े की जानकारी ली। ट्वाय ट्रेन के लिए बनाई जा रही कंक्रीट की सड़क समेत अन्य भवनों के निर्माण कार्य का भी जायजा लिया। मिट्टी भराई का काम भी देखा। प्राणी उद्यान में कुल 33 बाड़े बनाए जा रहे हैं। इनमें 58 से ज्यादा प्रजाति के 387 वन्य जीवों को रखा जाएगा।

वन मंत्री ने बताया यहां पर बब्बर शेर, बाघ, तेंदुआ, गैंडा, जेब्रा, दरियाई घोड़े, दो प्रजाति के भालू, तीन तरह के बंदर, छह प्रजातियों के हिरण, लकड़बग्घा, भेड़िया, तितली पार्क, घड़ियाल, मगरमच्छ का बाड़ा बनाया गया है । वनमंत्री के साथ निरीक्षण में नगर विधायक डॉ. आरएमडी अग्रवाल, भाजपा गोरखपुर जिलाध्यक्ष युद्धिष्ठिर सिंह, महानगर अध्यक्ष राजेश गुप्ता, प्रधान मुख्य संरक्षक राजीव गर्ग, प्रधान मुख्य वन संरक्षक वन्य-जीव सुनील पाण्डेय, अपर प्रधान मुख्य
वन संरक्षक- इको विकास संजय श्रीवास्तव, मुख्यवन संरक्षक आर हेमंत सहित कई लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply