शराब पिलाई, संबंध बनाया, रुपए मांगने पर न्यूड महिला को मार डाला

0
932

शाहपुर में निर्वस्त्र मिली महिला की डेड बॉडी की पहचान,हत्यारोपित गिरफ्तार
• रैन बसेरा के सिक्योरिटी गार्ड ने संबंध बनाने के बाद की थी महिला की हत्या

गोरखपुर। शाहपुर इलाके प्रीत विहार कालोनी के खाली प्लाट में 35 वर्षीय महिला की हत्या संबंध बनाने के बाद पैसे के लेन-देन में हुई थी। देवरिया निवासी रैन बसेरा के सिक्योरिटी गार्ड ने संबंध बनाने के बाद पैसे ज्यादा मांगने पर महिला का गला दबाया। फिर जोर से उसका सिर दीवारों में टकरा दिया। ब्लाइंड मर्डर को खोलने के लिए शाहपुर थाना के 15 सिपाहियों की टीम ने दिनरात काम किया। पब्लिक के बीच जाकर महिला की पहचान कराने की कोशिश में लगे रहे। महिला की पहचान होने पर उसके हत्यारोपी का भी सुराग मिल गया। पकड़े गए गार्ड ने हत्या की बात कबूल करते हुए बताया कि संबंध बनाने के बाद पांच सौ रुपए देना तय हुआ था। लेकिन महिला एक हजार रुपए मांगने लगी। इसी बात पर हुए झगड़े में गार्ड ने महिला को मार डाला। अगल—बगल के प्लाट में उसके कपड़े फेंककर फरार हो गया।

साड़ी में बंधी सुर्ती, हाथ के टैटू ने दिया क्लू
एसपी सिटी डा. कौस्तुभ ने बताया कि 22 अगस्त को शाहपुर थाना क्षेत्र के प्रीत विहार कालोनी में एक खाली प्लाट में महिला की निर्वस्त्र लाश मिली थी। पड़ोसी ने बदबू के बाद प्लाट में जाकर देखा तो महिला की लाश पड़ी थी। उसने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया। घटना के अगले दिन पुलिस ने प्लाट की दोबारा जांच की तो साड़ी, ब्लाउज बरामद किया। साड़ी के एक कोने में खैनी बांधी थी। महिला के हाथ पर गोदना से फूल बना था। पुलिस की टीम उसकी पहचान करने में जुट गई। पूछताछ के बाद महिला की पहचान हो गई। वह गुलरिहा इलाके की रहने वाली दो बच्चों की मां थी। उसका बड़ा बेटा 12 साल का है। महिला ने अपने पहले पति को छोड़ दिया है। दूसरे पति के साथ वह रहती है। पहले पति से ही दोनों बच्चे हैं।

17 अगस्त की दोपहर में ही हो गई थी हत्या
पुलिस की जांच में पता चला कि शव बरामद होने के पांच दिन पहले यानी 17 अगस्त की दोपहर में महिला की हत्या हुई थी। उस दिन पादरी बाजार व्यासनगर में राहुल भोजनालय पर महिला ने तीन लोगों के साथ खाना खाया और वहीं से एक व्यक्ति के साथ चली गई। पुलिस को पता चला कि बड़हलगंज इलाके रहने वाले के एक रिक्शा चालक के साथ वह अक्सर घूमती थी। पुलिस ने उस रिक्शा चालक को पकड़ा तो उसने बताया कि महिला रैन बसेरा के सिक्योरिटी गार्ड शैलेश मिश्रा के साथ उस दिन गई थी। देवरिया जिले के लार थाना क्षेत्र स्थित रेवली गांव निवासी शैलेश मिश्रा प्रीत विहार कालोनी में एक स्कूल के पास रहता है। पुलिस ने शैलेश को गिरफ्तार किया तो उसने न सिर्फ घटना कबूली बल्कि सिलसिलेवार पूरी कहानी बयां कर दी। शैलेश ने बताया कि घटनावाले दिन वह महिला के साथ खाली प्लाट में गया था। उससे पहले दोनों ने शराब पी थी। उसके पास उस दिन 12 सौ रुपए थे जिसमें से चार सौ रुपए की शराब में खर्च हो गए थे। दोपहर में करीब 12 बजे महिला के साथ प्लाट में संबंध बनाया। महिला से पांच सौ रुपए तय हुआ था लेकिन वह एक हजार रुपए मांगने लगी। उसके पास उतने पैसे नहीं थे वह गुस्से में आया और गला दबाने के साथ दीवार में उसका सिर टकरा दिया जिससे उसकी मौत हो गई। डर के मारे वह वहां से भाग गया। पुलिस ने मोहल्ले के कुछ घरों में लगे सीसी टीवी से 17 अगस्त की फुटेज चेक किया तो सिक्योरिटी गार्ड महिला के साथ जाते दिख रहा है। पुलिस ने आरोपित को कोर्ट में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

सर्विलांस नहीं मैनुअल पुलिसिंग से खुला हत्या का राज
शाहपुर के प्रीत विहार में महिला की हत्या ब्लाइंड थी, पुलिस के पास कोई सुराग नहीं था। पुलिस ने सर्विलांस को छोड़ पांच दिन तक इस हत्यकांड के खुलासे में मैनुअल काम किया। खुलासे में एसपी सिटी डा. कौस्तुभ ने अहम भूमिका निभाई। उन्होंने खुलासे के लिए शाहपुर थाने के 15 सिपाहियों को टॉस्क दिया। महिला की साड़ी के कोने में बंधी सुर्ती और गोदना के साथ साड़ी के रंग से पहचान करने में आसानी हुई। सिपाही इलाके में घरों-घरों में घूम कर लोगों को फोटो दिखाते और ऐसी महिला के बारे में पूछते जो सुर्ती तक खाती हो उसके बाद लोगों ने उस महिला का नाम बताया और पुलिस को अहम कामयाबी मिली।

“इस घटना का पर्दाफाश करने के लिए पुलिस की टीम लगाई गई थी। महिला की फोटो, उसके हाथ पर बने टैटू और साड़ी में बंधी सुर्ती से क्लू मिला। 15 कांस्टेबल की पुलिस टीम ने मोहल्ले— मोहल्ले घूमकर उसके बारे में जानकारी जुटाई।”
डॉ. कौस्तुभ, एसपी सिटी, गोरखपुर

Leave a Reply