70 फीसदी सफल रहा यूनिवर्सिटी का रिसर्च, घर बैठे दे दिया एग्जाम

0
507

गोरखपुर। कोरोना संक्रमण के दौर में दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय ने टेक्नालॉजी के जरिए अनूठा प्रयोग किया। रविवार को आयोजित शोध पात्रता परीक्षा (RET-2020-21) में करीब 70 फीसदी अभ्यर्थी शामिल हुए। पांच पालियों में आयोजित परीक्षा में घर और साइबर कैफे से एग्जाम देने वाले अभ्यर्थियों की संख्या ज्यादा रही। गोरखपुर में ऑनलाइन मोड की परीक्षा के लिए बनाए गए केंद्र विमल महिला महाविद्यालय की परीक्षाएं तकनीकी खराबी(जैसा कि सेन्टर हेड, विमल महिला महाविद्यालय ऑनलाइन सेल ने स्वीकार किया) की वजह से निरस्त कर दी गई हैं। यहां पर इंटरनेट कनेक्शन की प्रॉब्लम सामने आई थी। विश्वविद्यालय प्रशासन ने ऑनलाइन मोड की परीक्षा के लिए बनाए गए केंद्रों पर परीक्षा देने से वंचित रह गए अभ्यर्थियों की सहूलियत के लिए उन्हें एक और मौका देने का फैसला किया है। ऐसे उम्मीदवार जिन्होंने 07/01/2021 को शाम 5 बजे तक परीक्षा केंद्र के लिए पंजीकरण किया था। लेकिन किन्हीं कारणों से 10/01/2021 को परीक्षा नहीं दे सके हैं। उनके लिए एक सप्ताह में पुनः परीक्षा की व्यवस्था की जाएगी। इसकी विधिवत सूचना अभ्यर्थियों को उनके ईमेल के साथ पंजीक‌ृत मोबाइल नंबर पर प्रेषित की जाएगी। परीक्षा से जुड़ी जानकारी वि‌श्वविद्यालय की वेबसाइट ddugu.ac.in पर उपलब्ध रहेगी।

कुलपति ने रखी नजर, लेते रहे अपडेट
परीक्षा को लेकर कुलपति प्रो. राजेश ‌सिंह काफी सक्रिय रहे। वह सेंटर पर चल रही गतिविधि का अपडेट लेते रहे। खुद नोडल अधिकारी से लेकर आईटी सेल तक पल पल की अपडेट लेने के साथ जिम्मेदारों को सुबह से लेकर शाम तक आवश्यक दिशा निर्देश देते नजर आए।

डीडीयूजीयू और एमएमएमयूटी में सकुशल हुई परीक्षा
ऑनलाइन मोड की परीक्षा के लिए गोरखपुर में बनाए गए दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय और मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में परीक्षाओं का सकुशल आयोजन हुुआ। परीक्षा के दौरान इन अभ्यर्थियों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा।

20 अभ्यर्थी पर एक पर्यवेक्षक की नजर
परीक्षा की निगरानी के लिए विवि प्रशासन की ओर से होम बेस्ड रिमोर्ट प्रॉक्टर्ड विधि का इस्तेेमाल किया गया। हर पाली में 1500-2000 अभ्यर्थी शामिल हुए। 15-20 विद्यार्थियों की निगरानी का जिम्मा एक ऑनलाइन पर्यवेक्षक ने संभाली। करीब दो घंटे तक चलने वाली परीक्षा प्रक्रिया की पूरी ऑडियो और वीडियो रिकार्डिंग विश्विद्यालय के पास सुरक्षित है। परीक्षा के बाद भी अगर ऑनलाइन परीक्षक की जांच में किसी अभ्यर्थी की गतिविधि संदिग्ध मिलती है तो उसे परीक्षा से निष्कासित कर दिया जाएगा। दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के मीडिया एवं जनसंपर्क कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार परीक्षा सकुशल संपन्न हुई।

इतने अभ्यर्थी हुए शामिल
ग्रुप समय पंजीकृत अभ्यर्थी उपस्थित

ग्रुप ए (9-10ः30) 897 625

ग्रुप बी (11:30- 1:00) 1469 1131

ग्रुप सी (2:00-3:30) 1154 758

ग्रुप डी (4:30-6:00) 635 380

ग्रुप ई (7:00-8:30) 1110 748

कुल संख्या — 5265 3642

Leave a Reply