होम आइसोलेशन में हैं तो उठाएं ये कदम, मिलेगा भरपूर फायदा

0
994

गोरखपुर। कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए होम आइसोलेशन की व्यवस्था से लोगों को राहत मिलेगी। होम आइसोलेट किए गए लोगों की निगरानी में आरोग्य सेतु एप कारगर बनेगा। एप के जरिए कंट्रोल रूम से मरीजों की स्थित की जानकारी मिल सकेगी। आसपास के लोगों को भी एप अलर्ट देता रहेगा।

होम आइसोलेट हुए तो डाउनलोड करें एप

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट गौरव सिंह सोगरवाल ने बताया कि होम आइसोलेट होने वाले हर व्यक्ति को अपने मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु इंस्टाल करना है। एप इंस्टाल न होने की दशा में संबंधित को अस्पताल में भर्ती करा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि आरोग्य सेतु एप पर होम आइसोलेट मरीज को दो बार एक्सेस करना होगा। उसमें पूछे जाने वाले सवालों के जवाब देने से जानकारी मिलती रहेगी। ऐसे में किसी मरीज की दिक्कत बढ़ी तो तुरंत उसे ट्रैक करके अस्पताल में भर्ती करा दिया जाएगा।

फोन से मिली जानकारी, नहीं किया एक्सेस
होम आइसोलेट होने वाले मरीज यदि आरोग्य सेतु एप को एक्सेस नहीं करेंगे तो इसकी जानकारी कंट्रोल रूम को मिल जाएगी। इसके बाद कंट्रोल रुम से फोन करके मरीज को बताया जाएगा कि उसने एक्सेस नहीं किया है तो वह तत्काल एप को इंस्टाल कर लें। अगर मरीज ने अपनी लोकेशन बदलने की कोशिश की तो उसे ट्रैक कर लिया जाएगा। साथ ही होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की निगरानी के लिए सीएमओ आफिस में कंट्रोल रूम बनाया जाएगा। यहां भी एक शिफ्ट चार कर्मचारी तैनात किए गए हैं। इनके पास सभी लोगों के संबंध में पूरी जानकारी रहेगी।

होम आइलेशन मरीजों के लिए निर्देश
आरोग्य एप पर रोजाना दो बार एप पर एक्सेस करना है। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने बताया कि गैर लक्षण वाले मरीज अगर घर पर होम आइसोलेट रहते हैं, तो उन्हें जरूरी सामान घर पर रखने होंगे। इनमें प्लस ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर, मास्क, गल्ब्स, सोडियम हापोक्लोराइट साल्यूशन और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले सामान शामिल हैं। इसके अलावा घर में दो शौचालय, 24 घंटे देख-रेख करने वाला एक व्यक्ति का होना जरूरत है। स्मार्ट फोन न होने पर स्वास्थ्य विभाग को फोन पर सूचना देनी होगी। इसके अलावा स्मार्ट फोन में आइसोलेशन एप डाउनलोड करना होगा।

Leave a Reply