लेडी गैंगेस्टर गीता तिवारी साथी जस्सू संग गई जेल, तीन पर 15-15 हजार का ईनाम

0
840

गोरखपुर। तिवारीपुर इलाके के सूर्य विहार कालोनी में रहने वाली गैंगेस्टर गीता तिवारी के घर फायरिंग में पुलिस ने कार्रवाई की. नामजद आरोपी गी​ता तिवारी और उसके सहयोगी जस्सू जायसवाल को रविवार की सुबह पुलिस ने डोमिनगढ़ रेलवे स्टेशन के पास से गिरफ्तार किया। जस्सू के पास से एक तमंचा और कारतूस बरामद हुआ। दोनों से पूछताछ करके पुलिस ने जेल भेज दिया। घटना में शामिल तीन साथियों सिरिंस सोनकर, अश्ववनी उर्फ रॉकी और छोटू कुरैशी की तलाश चल रही है। एसपी सिटी डॉ. कौस्तुभ ने बताया कि तीनों के खिलाफ 15 हजार रुपए का ईनाम घोषित किया गया है।

बर्थडे पार्टी में हुआ शातिरों का जमावड़ा
सूर्य विहार कालोनी में रहने वाली ​गीता तिवारी गैंगेस्टर के मुकदमे में जेल में बंद थी। जमानत पर छूटकर वह बाहर आई। फिर एक अन्य मामले में एनबीडल्यू जारी होने पर पुलिस ने उसे पकड़ लिया। 20 अक्टूबर को उसे जमानत मिली। शुक्रवार को गीता की नतिनी का बर्थडे था। इस मौके पर रात में उसने अपने घर पर पार्टी बुलाई। वहां पर गीता के करीबी जस्सू जायसवाल, सिरिन्स सोनमर, अश्वनी उर्फ रॉकी, छोटू कुरैशी, नीतिश सिंह, मोहम्मद आमिर सहित लोग पहुंचे। तभी किसी बात को लेकर सीरिंस ने फायरिंग शुरू कर दी। गोली चलने पर मोहम्मद आमिर और नीतिश घायल हो गए। गीता ने इसकी सूचना पुलिस को नहीं दी। साथियों ने दोनों को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। इसके बाद पुलिस को जानकारी मिली।

देर करती पुलिस तो भाग जाती गीता तिवारी
इस मामले में नीतिश के पिता ने पुरानी रंजिश में बेटे की हत्या की कोशिश का मुकदमा दर्ज कराया। तहरीर में उन्होंने गीता तिवारी, जस्सू जायसवाल, सिरिंस सोनकर, अश्वनी उर्फ राकी और छोटू कुरैशी को नामजद किया। गैंगेस्टर के घर में फायरिंग का मामला सामने आने पर पुलिस हरकत में आई। रविवार की सुबह साढ़े छह बजे पुलिस को सूचना मिली कि गीता तिवारी और जस्सू कहीं भाग रहे हैं। डोमिनगढ़ रेलवे स्टेशन पर पुलिस ने दोनों को पकड़ लिया। पूछताछ में गीता ने पुलिस को बताया कि नशे में हुई फायरिंग में दोनों को गोली लगी। लेकिन पुलिस को उसकी बातों पर यकीन नहीं हुआ। गोली चलाने वाले सिरिंस की गिरफ्तारी के बाद सही वजह सामने आएगी। इसलिए पुलिस सरगर्मी से तीनों की तलाश कर रही है। पुलिस का कहना है कि सभी के खिलाफ पहले से हत्या, लूट, डकैती, जानलेवा हमले के मामले दर्ज हैं। गी​​ता तिवारी पर छह, जस्सू जायसवाल के खिलाफ 12, सिरिंस सोनकर के खिलाफ पांच मुकदमे विभिन्न थानों में हैं। गोलघर में डकैती, इंदिरा बाल विहार पर फायरिंग और मर्डर में जस्सू और सिरिंस का नाम प्रकाश में आया था।

“घटना में शामिल गीता तिवारी और सिरिंस को पकड़ लिया गया है। तीन अन्य का नाम प्रकाश में आया है। उनके खिलाफ ईनाम घोषित किया गया। जल्द ही उनको भी पकड़ लिया जाएगा।”
– डॉ. कौस्तुभ, पुलिस अधीक्षक, नगर, गोरखपुर

Leave a Reply